April 26, 2019

मैं तुझसे दूर हूँ, मिलने की दुआ कर..

ज़्बों की सदाक़त का भरम टूट ना जाए..
मैं तुझसे दूर हूँ, मिलने की दुआ कर.. 

Let the belief of sincerity of emotions never break, I'm far away from you, pray so that we can meet soon.

दो प्यार करने वाले हमेशा एक मीठे भरम में होते है के उनके एक दूसरे के लिए जज़्बात सच्चे है। लेकिन दूरियां अक्सर दिलो में डर पैदा कर देती है के ये भरम टूट न जाए, और जब ऐसा होता है तो वो एक दूसरे से मुलाक़ात की दुआ करते है..जिससे वो एक दूसरे को नज़र भर देख सके, अपने प्यार के वजूद को महसूस कर सके ताकि ये भरम बना रहे अगली मुलाक़ात तक ❤

-K Himaanshu Shuklaa..

No comments:

Post a Comment

RSSChomp Blog Directory